शुक्रवार, 18 जुलाई 2014

शिव सतयुग निर्माण

चिंता चित से हटी रहे ,चित में हो भगवान 
विषपायी शिव पूज्य रहे ,कर शिव का गुणगान 

शिव पूजन है सहज सरल , शिव व्यापे अभिषेक 
शिव की शक्ति जानिये, शिव शक्ति है एक 

 सावन पावन  हरा भरा, बारिश की रिम झिम 
 शिव  जल  का अभियान है, शिव शंकर है हिम 

शिव जी सबके परम पिता ,हम बालक अनजान 
बालक सा मन  चाहिए चाहिये ,मासूम सी मुस्कान 

शिव व्रत और उपवास नहीं ,शिव है जग कल्याण 
शिव सज्जन के साथ रहे ,शिव सतयुग निर्माण 


1 टिप्पणी: