सोमवार, 10 दिसंबर 2012

दर्द मे भींगा






दर्द मे भींगा हुआ है
सर्दिला मौसम
सर्द का मौसम हुआ है
सर्द का मौसम

झील के झिल-मिल किनारे
लहरो की हल चल
लहरो की हल-चल हिलाती
ठंडी हवा पल पल
प्यारा सा जीवन सजा ले
ऐ मेरे हम-दम


दर्द से घायल हुई है
प्यार की पायल
प्यार मे पागल समन्दर
पागल हुई कोयल
साज और  आवाज से ही
सज गई सरगम


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें